Connect with us

G.K.

ब्यूटाइरोमिटर क्या है ?Butyrometer के बारे में हिंदी जानकारी

Published

on

Butyrometer in hindi

दोस्तो , आज आपको एक विशेष जानाकरी देने वाले है । आपने कभी ब्यूटाइरोमिटर (butyrometer) नाम सुना है ? अगर आप  ब्यूटाइरोमिटर (butyrometer) के बारे में नही जानते तो यह लेख आपके लिए ही है।

आज के लेख में हम आपको

ब्यूटाइरोमिटर क्या है ? Butyrometer in hindi

ब्यूटाइरोमिटर को कैसे यूज़ करें ?

ब्यूटाइरोमिटर की कीमत क्या है?

ब्यूटाइरोमिटर की कैलिब्रेशन

ब्यूटाइरोमिटर रीफ्रेक्टोमीटर क्या है?

जैसे कुछ चर्चित सवालो के जवाब देने जा रहे है । आप भी ब्यूटाइरोमिटर ( Butyrometer in hindi ) के बारे में जानने में रूचि रखते है , तो अंत तक हमारे साथ बने रहियेगा।

ब्यूटाइरोमिटर क्या है? What is Butyrometer ? Butyrometer in hindi

दूध और दूध से बनी चीजों जैसे दही, आइसक्रीम, मख्खन इत्यादि में वसा (फैट)fat की मात्रा जानने का जो साधन है उसे ब्यूटाइरोमिटर कहते है।

ब्यूटाइरोमिटर के उपयोग से वसा की मात्रा जानने के लिए गरबर(gerber) पद्धति का उपयोग किया जाता है।

दूध में से फैट जानने का आविष्कार स्विस वैज्ञानिक निकोलस गरबर ने1891 में  किया था इसलिए इसको गरबर पध्धति(gerber’s method) कहा जाता है।

दूध में से fat(फैट) अलग करने के लिये इसमे सल्फ्यूरिक एसिड ऐड किया जाता है । उसके बाद इसमें amyl alcohol डाल कर  घुमाया(सेन्ट्रीफ्यूज़)जाता है । एक  कैलिब्रेटेड ब्यूटाइरोमिटर (टयूब)के माध्यम से उसे सीधा पढ़ा जाता है ।

गरबर ने ब्यूटाइरोमिटर (ट्यूब) ,पिपेट और सेंट्रीफ्यूज (ब्यूटाइरोमिटर (ट्यूब)को घुमाने वाला यंत्र) को विकसित किया था।

ये परीक्षण आज भी ऐसे ही बड़े पैमाने पर  किया जाता है । बहुत राष्ट्रीय और आंतरराष्ट्रीय मानको के आधार पर गरबर टेस्ट होता है। परीक्षण में सुधार और मानकिकरण जारी है।

ब्यूटाइरोमिटर को कैसे यूज़ करें ? How to use Butyrometer ?

  1. ब्यूटाइरोमिटर में पिपेट की मदद से 10 मिली सल्फ्यूरिक एसिड डालें ।
  2. एवरेज सैंपल में से 11 मिली दूध पिपेट की मदद से डाले ।
  3. इसमे 1 मिली एमाइल एसिड ऐड करे ।
  4. दूध के तत्वों की बराबर मिलावट के लिए ब्यूटाइरोमिटर को अच्छे से हिलाये ।
  5. ब्यूटाइरोमिटर को सेंट्रीफ्यूज में रखकर 5 मिनिट तक सेंट्रीफ्यूज करें ।
  6. इसके बाद ब्यूटाइरोमिटर को लंबवत रखते हुए कि सेंट्रीफ्यूज से निकाले और 60 to70 डिग्री पानी मे 5 मिनिट के लिए डुबो दे।
  7. ब्यूटाइरोमिटर में रीडिंग लेने के लिए ,ब्यूटाइरोमिटर को आंख के लेवल पर सीधा रखें। फैट कॉलम की गोल ऊपरी सतह की बेज से ग्रेजुएशन मार्क से रीडिंग करें।
  8. उदाहरण के तौर पर देखे तो रीडिंग अगर 3.6 दिखता है तो दूध में वसा(फैट) कि मात्रा 3.6 परसेंट है। मतलब की 1लीटर दूध में 36 ग्राम फैट है।

आइए इसका रेखाचित्र आपको दिखाते हैं।

इसी प्रकार दूध में वसा की मात्रा ब्यूटाइरोमिटर की मदद से हम जान सकते है

ब्यूटाइरोमिटर की कीमत क्या है? What is the cost of butyrometer?

दोस्तो, वैसे तो ब्यूटाइरोमिटर का उपयोग बड़े पैमाने पर दूध की डेरी (सहकारी या प्राइवेट ) पर किया जाता है । दूध की चीजें बनाने वाले भी दूध कि ख़रीदी करने के लिए दूध में फैट, उनके जरूरत के हिसाब से रखने के लिए ब्यूटाइरोमिटर का उपयोग करते हैं।

ब्यूटाइरोमिटर की कीमत बाजार में , इसके उत्पादकों के अनुसार अलग अलग होती हैं। पर नंग rs 21 से लेकर rs 275 तक कीमत में ब्यूटाइरोमिटर ट्यूब मिल जाती है।

ब्यूटाइरोमिटर की कैलिब्रेशन – Calibration of Butyrometer

किसी माप उपकरण की मापन अनिश्चितता की जांच करके स्थापित करना और इसका रिकॉर्ड करने को कैलिब्रेशन कहते हैं।

एक  सच्चे कैलिब्रशन में  किसी उपकरण का समायोजन करना नही होता है पर उसी उपकरण की समायोजन की जरूरत को दर्शाता है।

सामान्यतः कैलिब्रेशन दो माप की तुलना है जिसमे एक माप ज्ञात सेट किया उपकरण के साथ दूसरा मेज़रमेंट उसी प्रकार से लिया हुआ हो। जो ज्ञात या नियत शुद्ध उपकरण को मानक कहा जाता है । दूसरा उपकरण परीक्षण के तहत यूनिट,परीक्षण यूनिट या कैलिब्रेशन किया जाने वाला उपकरण जैसे कई नामों से जाना जाता है।

  • दूध ब्यूटाइरोमिटर के कैलिब्रेशन की कुछ विधियाँ है :

1. तुलना विधि

  • ये आमतौर पर ज्यादातर उपयोग में लिए जाने वाली पध्धति है । हालांकि ये सटीक पध्धति नही है। इसमे नये खरीदे हुए ब्यूटाइरोमिटर की सटीकता की तुलना,एक दूध के नमूने में पिछले बैच के ब्यूटाइरोमिटर से गरबर विधि के साथ किये गए फैट के आकलन से किया जाता है।
  • यदि नये ब्यूटाइरोमिटर में वसा(फैट)के मानकों का रीडिंग ,पुरानी ब्यूटाइरोमिटर के समान है, तो नये ब्यूटाइरोमिटर स्वीकार किये जाते हैं।
  • इस विधि में सिमा यह है कि पिछले ब्यूटाइरोमिटर सटीक नही हो सकते है या एसिड की वजह से उनकी आंतरिक मात्रा बदली हुई हो सकती है।

2. बीआई एस (B I S)  विधि

  • इस विधि में ब्यूटाइरोमिटर को कैलिब्रेट करने के लिये एक विशेष रूप से डिज़ाइन की हुई पारा पिपेट का उपयोग किया जाता है। ये पध्दति इस सिद्धांत पर आधारित है कि दूध ब्यूटाइरोमिटर की अंकित की हुई ट्यूब की आंतरिक मात्रा प्रत्येक 1%फैट(वसा)अंक  के लिये0.125मिली हैं।
  •  दूसरे शब्दों में 0से10%फैट मार्क की हुई ब्यूटाइरोमिटर ट्यूब की आंतरिक वोल्युम 1.25 मिलीलीटर है।
  • पारा पिपेट से पारा एकसाथ 0.3125 मिली ऑटोमेटिक निकले ऐसी डिज़ाइन की हुई होती है।जो कि ट्यूब की फैट मार्क के 2.5% जितने भाग को भरती है । 0 से 10% फुल मार्क को कैलिब्रेशन करने के लिए पहले ब्यूटाइरोमिटर के बल्ब को 10% भरने के बाद ,ब्यूटाइरोमिटर में पारा पिपेट से 4 बार पारा डाला जाता है।
  • जो कि एक बार पूरे 0.3125 मिली के हिसाब से 4 बार से कंप्लीट 2.5% फैट मार्क को भरता है। अगर ब्यूटाइरोमिटर में मार्क की हुई 0 से10% फैट मार्क 4 बार पारा पिपेट से डाले गए पारा से भरा जाता है , तो ब्यूटाइरोमिटर स्वीकार किये जाते हैं। वरना उसे फैल समजा जाता है।

कैलिब्रेशन के लिए पारा का उपयोग करने का यह कारण है कि

  1. पारा ट्यूब के किनारों पर चिपकता नही है इसलिए पूरी मात्रा में भराता है।
  2. पारा में घनता बहुत होने के कारण वजन में छोटे से बदलाव को भी तुरंत नॉट किया जाएगा।

ब्यूटाइरोमिटर रीफ्रेक्टोमीटर क्या है?

ब्यूटाइरोमिटर रिफ्रेक्टोमिटर एक ऐसा उपकरण है जिसका उपयोग दूध में वसा(फैट)की मात्रा जानने के लिए किया जाता है,जो सीधे ऑयल स्केल के संदर्भ एक रीडिंग देता है। जिसे ब्यूटाइल स्केल के रूप में जाना जाता है।

तो दोस्तो ये है ब्यूटाइरोमिटर , एक बहुत उपयोगी उपकरण है । जिसे हम रोज बरोज के काम मे देखते तो है । लेकिन उसके बारे में हम बहुत जानते नही है । आज हमने ब्यूटाइरोमिटर के बारे में जो जानकारी दी है आशा रखते है कि आपको पसंद आई होगी ।

निष्कर्ष : 

हमें उम्मीद है कि आपके मनके सवाल जैसे कि ब्यूटाइरोमिटर क्या है ? Butyrometer Meaning in hindi

ब्यूटाइरोमिटर को कैसे यूज़ करें ?

ब्यूटाइरोमिटर की कीमत क्या है?

ब्यूटाइरोमिटर की कैलिब्रेशन

ब्यूटाइरोमिटर रीफ्रेक्टोमीटर क्या है ?

जैसे सवालो के संतोषजनक जवाब मिल चुके होंगे । आपको यह लेख ज्ञानवर्धक लगा हो तो जरूर से अपने दोस्तों , रिस्तेदारो को शेयर करे। हमें इससे प्रोत्साहन मिलेगा। हमारी साइट पे आने के लिए धन्यवाद।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending