Connect with us

G.K.

सौर मंडल के बारे में जानकरी | About Solar System in Hindi

Published

on

About-solar-system-in-hindi

हैलो दोस्तो , क्या आप भी सौर मंडल(Solar system in hindi) के बारे में जानने के लिए उत्सुक रहते हो ? आप भी सौर मंडल के ग्रह (planets name in hindi) के बारे में जानने के लिए रुचि रखते है तो ये लेख आपके लिए ही है।

आपको इस लेख में सौर मंडल के बारे में सभी प्रकार की रसप्रद जानकारी हिंदी (About solar system in hindi) में प्राप्त हॉगी। साथ साथ आपको सौर मंडल के ग्रह के बारे में भी विस्तार से बहुत ही नए अंदाज में जानकारी मिलने वाली है।

तो दोस्तो , तैयार हो जाइए इस बेहतरीन सोलर सिस्टम का सफर (Essay on solar system in hindi) करने के लिए ।साथ मे कुछ खाने के लिए भी ले लीजिएगा जिससे और मजा आये।

सौर मंडल क्या है ?(Meaning of solar system in hindi)

सूर्य और उसके आसपास परिक्रमा करने वाले ग्रह , उपग्रह , पुछताल तारे , क्षुद्रग्रह को मिलाकर जो संयुक्त रूप से सौर मंडल कहा जाता है।

सौर मंडल की उत्पति साडे चार बिलियन साल पहले हुई थी । तब सूर्य का जन्म हुआ था। धीरे धीरे ग्रहों , उपग्रहों , चंद्रमा , धूमकेतु , उल्कापिंड बनते गए। वे सभी अपनी कक्षा में रहकर सूर्य की परिक्रमा करते रहते है।

पूरे सौर मंडल में 8 ग्रह , 5 बोने ग्रह , 575 से ज्यादा चंद्रमा और उल्कापिंड और अन्य कण शामिल है । सौर मंडल (solar system)बहुत ही बड़ा है उसकी सिमा करीब करीब 187.5 खरब किलोमीटर जितनी है।

सूर्य इस सौर मंडल का मुख्य तारा है। बाकी को एक प्रकार से उनके परिवार के सभ्यो के जैसे गिना जा सकता है। इसलिए ही सोलर सिस्टम को सौर परिवार या सौर मंडल कहा जाता है।

Solar System Age (उम्र )

4.6 अरब साल 
Total Planets ( ग्रह )

8 ग्रह 

Total satelite ( उपग्रह )

181 से ज्यादा 

Diameter ( सौर मंडल की सिमा )

187.5 ख़रब किलोमीटर  

Main ( सौर मंडल का मुख्या )

सूर्य 

Biggest Planet ( सबसे बड़ा ग्रह )

बृहस्पति ग्रह 

Smallest Planet ( सबसे छोटा ग्रह )

बुध ग्रह 

Nearest Planet ( सबसे नजदीक ग्रह )

बुध ग्रह 

Farest Planet ( सबसे दूर का ग्रह )

वरूण ग्रह 

Saur Mandal Image

 solar-system-information-all-planets-name

कक्षा किसे कहते है ?

सूर्य को केंद्र में रखकर ग्रह जिस प्रकार से उसके आसपास परिक्रमा करते है उसको कक्षा कहा जाता है।

कक्षा दीर्घवृत्त(ellipse) आकर की होती है। सभी ग्रहों की कक्षा ये लगभग एक ही प्रतल में हुआ करती है।जिसे क्रांतिवृत्त भी कहा जाता है।

शुक्र , प्लूटो और युरेनस को छोड़कर बाकी के सभी ग्रह इसी दिशा में घूर्णन करते है।ये ग्रह विपरीत दिशा में घूर्णन करते है।

ग्रह किसे कहते है ? What is planets in hindi

सूर्य या किसी और तारे के आसपास कोई निश्चित कक्षा में परिक्रमा करने वाले खगोलीय पिंडों को ग्रह कहा जाता है।

ग्रह खुद प्रकाशित नही होते वो तारो के प्रकाश के कारण प्रकाशित होते है। ऐसा माना जाता है कि तारे टूटकर ही ग्रहों की रचना होती है। ग्रह अपने गुरुत्वाकर्षण के कारण ही गोलाकार हुआ करते है।

उपग्रह किसे कहते है ?

ग्रहों के चारो और परिक्रमा करने वाले खगोलीय पिंड को उपग्रह कहा जाता है। हमारे सौर मंडल में करीब करीब 205 से ज्यादा उपग्रह होते है।

पृथ्वी का उपग्रह चंद्रमा है।

 

सोलर सिस्टम के ग्रहों के बारे में जानकारी (Planets information in hindi)

अभी के समय मे सोलर मंडल में 8 ग्रह है। इन ग्रहों को दो भागों में बाँटा गया है। एक आंतरिक ग्रह(internal planets) और दूसरा बाहरी ग्रह(external planets)। इन ग्रहों को क्षुद्र घेरा(Asteroid belt) के आधार पर दो भागों में बता गया है।

क्षुद्र घेरा बृहस्पति और मंगल ग्रह के बीच मे आता है।इनकी संख्या बहोत ही है। सूर्य के नजदीकी 4 ग्रहों को आंतरिक ग्रह और बाक़ी के दूर के 4 ग्रहों को बाहरी ग्रह कहा जाता है।

तो अब ग्रहों को अच्छे से नीचे समजते है।

ग्रहों के क्या नाम है ? (Planets name in hindi)

Planets 

 ग्रह

बुध 

Mercury

शुक्र

Venus

पृथ्वी

Earth

मंगल 

Mars

बृहस्पति 

Jupiter

शनि

Saturn

अरुण

Uranus

वरूण 

Neptune

सौर मंडल में कुल मिलाकर 8 ग्रह शामिल होते है। सभी ग्रहों के बारे में रोचक और सही तथ्यों को हमने नीचे विस्तार से दर्शाया हुआ है । आगे पढ़ते रहिये..

बुध ग्रह (Mercury planet in hindi)

Mercury-planete-in-hindi

  • बुध ग्रह सूर्य का सबसे निकट का ग्रह है। साथ साथ ये सबसे छोटा ग्रह भी है।
  • यह दिन में बहुत ही गर्म होता है और रात पड़ने पर बर्फीला हो जाता है।हालांकि सूर्य की इतने करीब होने के बाद भी ये सबसे गर्म ग्रह नही है।
  • सूर्य की परिक्रमा करने के लिए इस ग्रह को 88 दिन लगते है।
  • सूर्य से इसकी कक्षा 57,910,000 किमी है । इसका व्यास 4880 किमी और द्रव्यमान 3.30e23 किग्रा है।
  • बुध की सतह पर क्रेटर (धब्बे या गड्ढ़े) होते है। इसकी सतह स्थायी होती है।
  • इस ग्रह पे दो अंतिरिक्ष यान मैरिनर10 और मैसेंजर जा चुके है।इनके कारण काफी जानकारियां प्राप्त हुई है।
  • इसका गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी का ⅜ वे भाग का होता है।पृथ्वी के बाद सबसे ज्यादा घनत्व इस ग्रह पर होता है।

शुक्र ग्रह (Venus planet in hindi)

venus-planet-name-in-hindi

  • सूर्य से सबसे नजिक के ग्रहों में दूसरे स्थान पर यह ग्रह होता है। सबसे ज्यादा गर्म यही शुक्र होता है।
  • शुक्र को सूर्य कि परिक्रमा करने के लिए पूरे 225 दिन लगते है। इसका परिक्रमा पथ की लंबाई 108,200,000 किमी होती है।इसका व्यास 12,103 किमी होता है।
  • ये ग्रह में सुबह और रात का तापमान लगभग समान ही होता है।
  • इस ग्रह का घूर्णन काफी धीमा होता है।इसकी कक्षा 108,200,000 किमी और द्रव्यमान 4.869e24 किग्रा होता है।
  • इस ग्रह पर सक्रिय प्रकार के ज्वालामुखी पाए जाते है । जिसके कारण इस के वायुमंडल में सल्फर डाइऑक्साइड के बादल फैले रहते है।
  • शुक्र का कोई उपग्रह नही होता है।
  • इस ग्रह को पृथ्वी की बहन भी कहा जाता है।क्योकि कई लक्षण पृथ्वी जैसे पाए गये है इसलिए।
  • ये चंद्र के बाद सबसे ज्यादा प्रकाशित रहता है इसलिए ही कई लोग इस को शाम का तारा या सुबह का तारा भी कहते है।

पृथ्वी ग्रह (Earth planet in hindi)

 Earth-planet-name-in-hindi

  • सूर्य से नजदीकी ग्रहो में तीसरे स्थान पर यह ग्रह है।
  • इसका रंग नीला होता है क्योंकि इस मे पानी की मात्रा ज्यादा होती है।
  • यह एक ऐसा ग्रह है कहा पर जीवन है।इसका बहुत ज्यादा भी नही और बहुत कम भी नही होता।
  • पृथ्वी के वायुमंडल में प्रमुख से ऑक्सीजन , नाइट्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड , ओज़ोन जैसे वायु पाए जाते है।
  • इस ग्रह को सूर्य की परिक्रमा करने के लिए 355 दिन लगते है।इसका उपग्रह चंद्रमा है।
  • सूर्य से पृथ्वी की दूरी 15 करोड़ किलोमीटर होती है।
  • इसकी कक्षा 149,600,000 किमी ,व्यास 12,756 किमी और द्रव्यमान 5.972e24 जितना होता है।

मंगल ग्रह (Mars planet in hindi)

mars-planet-name-in-hindi

  • सौर मंडल में चौथा ग्रह मंगल है। ये ग्रह लाल रंग का दिखाई देता है।
  • मंगल सौरमंडल में दूसरे क्रम का छोटा ग्रह है ।
  • इस ग्रह के दो उपग्रह होते है , फोबस और डीमोस ।
  • सूर्य से इस ग्रह की दूरी 22.79 करोड़ किमी जितनी होती है।
  • इस ग्रह में भी ऋतु परिवर्तन होता है क्योंकि ये भी पृथ्वी की तरह जुका हुआ होता है।
  • ये ग्रह अपनी परिक्रमा 687 दिनों में पूरी करता है।इसका दिन और रात पृथ्वी की तरह 24 घंटे का होता है।
  • इस ग्रह की कक्षा 227,940,000 किमी , और व्यास 6794 किमी और द्रव्यमान 6.4219e23 किग्रा होती है।
  • मंगल की सतह पर बहुत से क्रेटर हुआ करते है । यह अपर घाटिया , पर्वत और पत्थर भी है। यह जानकारियां पृथ्वी से भेजे गए यानो से प्राप्त हुई है।
  • भारत ने भी मंगल पर शोध करने के लिए मंगल यान भेजा था जो 24 सितंबर 2014 को मंगल पर पहुंचा था।

 

बृहस्पति ग्रह (Jupiter planet in hindi)

Jupiter-planet-name-in-hindi

  • बृहस्पति सौरमंडल का पांचवा ग्रह और सबसे बड़ा ग्रह है। इसका आकार पृथ्वी से 1300 गुना बड़ा है।
  • यह ग्रह सूर्य की परिक्रमा करने के लिए 11.9 वर्ष लगता है।
  • यह ग्रह हीलियम और हाइड्रोजन से बना हुआ है।इसलिए ही इस ग्रह में बड़े बड़े बवंडर आया करते है।
  • इस ग्रह के 79 उपग्रह होते है। उन उपग्रहों में से गैनिमिड सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • जुपिटर के पास अपनी रेडियो एनेर्जी है।इसलिए ही ईस ग्रह में तारो और ग्रह दोनो के लक्षण पाए जाते है।
  • इस ग्रह की कक्षा 778,330,000 किमी , व्यास 142,948 किमी और द्रव्यमान 1.900e27किग्रा जीतना होता है।

 

शनि ग्रह (Saturn planet in hindi)

Saturn-planet-name-in-hindi

  • सौरमंडल में छठा ग्रह शनि है।
  • शनि बहोत ही खूबसूरत ग्रह है इसलिए ही कभी कभी इसे ग्रहो का गहना कहा जाता है।
  • बृहस्पति के बाद दूसरे क्रम में सबसे बड़ा ग्रह इसे माना जाता है।
  • बृहस्पति के जैसे ही यह ग्रह हीलियम और हाइड्रोजन मुख्य रूप से शामिल है। यह बहुत ही ठंडा ग्रह है।
  • शनि ग्रह विलयो से घिरा हुआ है , इसलिए ही ये ग्रह बहुत सुंदर और सबसे अलग लगता है।
  • इस ग्रह के कुल 63 उपग्रह है जिसमे से टाइटन सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • सूर्य की परिक्रमा करने में इस ग्रह को 29.5 वर्ष लगते है।
  • इस ग्रह की कक्षा 1,429,400,00 किमी , व्यास 120,536 किमी और द्रव्यमान 5.58e26 जितना होता है।
  • पायोनियर नामक यान ने पहली बार 1979 में शनि की यात्रा की थी।शनि का घनत्व अन्य ग्रहो से काफी कम है।

अरुण ग्रह (Uranus planet in hindi)

Uranus-planet-name-in-hindi

  • सौरमंडल में सातवां ग्रह अरुण ग्रह है।
  • आकार में पृथ्वी से 63 गुना अधिक बड़ा यह ग्रह है।
  • इस ग्रह की खोज जीन जोसफ ली वर्रिऐर द्वारा की गई थी।
  • सूर्य से बहुत ही दूर होने के कारण बहुत ही ठंडा ग्रह होता है।
  • व्यास के आधार पर तीसरा सबसे बड़ा और द्रव्यमान के आधार पर चौथा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • अरुण को सूर्य की एक परिक्रमा पूर्ण करने के लिये 84 वर्ष लग जाते है।
  • इस ग्रह के 15 उपग्रह होते है।
  • इसके चारों और धुंधले वलय अल्फा , बीटा, गामा , डेल्टा और एप्सिलान होते है।
  • इस ग्रह के वातावरण में हाइड्रोजन, हीलियम और मीथेन शामिल होते है।यह चट्टान और विभिन्न बर्फ से बना हुआ है।
  • इसकी कक्षा 2,870,990,000 किमी , व्यास 51,118 किमी और द्रव्यमान 8.683e25 किग्रा जितना होता है।

वरूण ग्रह (Neptune planet in hindi)

Neptune-planet-name-hindi

  • वरुण सौरमंडल में सबसे आखरी और आंठवा ग्रह है।
  • वरुण ग्रह व्यास के आधार पर चौथा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • यह ग्रह अरुण से व्यास के आधार पर छोटा और द्रव्यमान के आधार पर बड़ा ग्रह है।
  • यह ग्रह सूर्य की परिक्रमा 165 वर्ष में पूर्ण करता है।
  • वरुण के कुलमिलाकर 13 उपग्रह है।जिसमे से ट्राइटन सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • यह सूर्य से काफी दूर होने के कारण काफी ठंडा है। यह बर्फ और विभिन्न चट्टानों से बना हुआ है।
  • वरुण का नीला रंग उसके वातावरण के ऊपरी भाग में मीथेन के लाल रंग के अवशोषण के कारण है।
  • इस ग्रह की यात्रा वाजेयर 2 नामक यान ने की हुई है।
  • इस ग्रह की कक्षा 4,504,000,000 किमी , व्यास 49,532 किमी और द्रव्यमान 1.0247e26 है।

आपको पढ़ना पसंद आएगा

 

 


FAQ- कुछ चर्चित प्रश्न

पृथ्वी सौरमंडल का अनोखा ग्रह है कारण बताइए

पृथ्वी पर ही जीवन होने में कारण इसे अनोखा ग्रह कह सकते है।

सौर मंडल का मुख्य कोन है ?

सौर मंडल का मुख्य सूर्य है।

सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह कोनसा है?

बृहस्पति ग्रह

सौर मंडल में सूर्य क्या एक तारा है?

हा, सूर्य एक तारा ही है।

सौर मंडल में पृथ्वी किस स्थान पर स्थित है?

सौर मंडल में पृथ्वी तीसरे स्थान पर स्थित है।

निष्कर्ष :

दोस्तो हमने उपर के लेख में सौर मंडल के बारे में विस्तार से जानकारी बतायी है। हमे आशा है कि आपको पसंद आई हॉगी।

हमने इस लेख में सौर मंडल और सभी प्रकार के ग्रह के बारे में विस्तार से जानकारी देने का प्रयत्न किया है।आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो शेयर करे।

हम आगे भी ऐसे बेहतरीन लेख लाते रहेंगे । आप हमारी साइट पे ऐसे ही पढ़ने के लिए आते रहिएगा। हमारी साइट पे आने के लिए धन्यवाद।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending