Connect with us

Health

Parsley in hindi : पार्सले क्या होता है ? फायदे – नुकसान जाने

Published

on

parsley in hindi

दोस्तो आज हम फिर हाजिर हुए है आपकी समक्ष  एक अदभुत जानकारी के साथ। क्या अपने कभी पार्सले (parsley) का नाम सुना है ? अगर नही सुना है तो आपको इसके बारे में जरूर से जानने की आवश्यकता है।

दोस्तो , आज हम एक ऐसे ही गुणकारी पौधे पार्सले के बारे में आपको हिंदी में जानकारी  ( parsley in hindi ) देने वाले है। आपको इस लेख में पार्सले से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी मिलने वाली है ।

पार्सले का हिंदी मीनिंग ( parsley meaning in hindi ) , पार्सले को हिंदी में क्या कहते है ? , पर्सले क्या है ? पार्सले के फायदे और नुकसान  , पार्सले के उपयोग जैसे विषयों पर आज हम गहराई से चर्चा करने वाले है।

तो चलिए दोस्तो पार्सले के बारे में हिंदी में जानते है।

विषय सूचि

पार्सले क्या है ? What is parsley in Hindi ?

पार्सले एक सुगंधित मांसल जड़ और चमकदार गहरे पत्तो वाली अदभुत जड़ीबूटी है । पार्सले का नाम ग्रीक शब्द रोक सेलेरी पर से पड़ा है। पार्सले दुनिया की सबसे लोकप्रिय जड़ीबूटी है । ये सुपरमार्केट में सालभर पाई जाती है। पार्सले एक पौष्टिक सुपर जड़ीबूटी या गार्निश मसाला है।

पार्सले को हिंदी में क्या कहते है ? what is parsley called in hindi ?

पार्सले को हिंदी में अजमोद या अजमोदा कहा जाता है

कुछ लोग पार्सले को हिंदी में अजवाइन भी कहते है। पर ये  अजवाइन नही है।

  • Parsle in  hindi called – Ajmod – Ajmoda

भारतीय भाषाओं में पार्सले के नाम – Indian names of Parsley-parsley synonyms in hindi

पार्सले को  इंडिया की अलग अलग भाषा अलग नाम से पुकारा जाता है।हालांकि पार्सले का चलन मध्य और पुर्वीय यूरोप मे और पश्चिम एशियामें कई व्यजनों पर ताजा हरा काटा हुआ छिड़क कर परोसने के लिएहोता था।parsley का भारतीय भाषाओं में कुछ इसी प्रकार है।

parsley names in indian language

  • अंग्रेजी – सेलरी सीडस
  • हिंदी – अजमोद/कोरफ
  • संस्कृत – ब्रह्मकोशी, बुध ,खारसवा
  • गुजराती – बोडी अजमोठी/अजमोदी             
  • तमिल/तेलुगु – पारमोमान/फ़ंडर्स
  • बंगाली – वानानी
  • लेटिन – एपीआईएम ग्रोवोलेन्स

पार्सले के फायदे | Benefits of Parsley in Hindi-parsley benefits in hindi

पार्सले एक औषधीय गुण वाली जड़ीबूटी है

अजमोद यानी पार्सले में मैंगनीज, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए, सोडियम, फाइबर और विटामिन A, विटामिन B और विटामिन C और विटामिन बी12 होता है।इसके अलावा इसमें फॉस्फोरस,कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, फाइबर,फोलेट,,फेटी एसिड, एमिनोएसीड, केरोटिन,प्रोटीन,थाइमिन और एन्टीऑक्सीडेंट,एंटीइंफ्लेमेटरी तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

पार्सले,(अजमोद) के फायदे बहुत है इनमे से कुछ इस प्रकार है

#1.हड्डियों को मजबूत बनाता है।

पार्सले में कैल्शियम ,फॉस्फोरस और विटामिन्स पाए जाते हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए प्रमुख जवाबदेही माने जाते हैं।

पार्सले में मौजूद मिनरल्स और विटामिन्स कमरदर्द, जोडों के दर्द, गठिया आदि रोगो के रोकथाम के लिये असरकारक हो सकते हैं।

#2.आयरन की कमी में असरकारक।

सामान्यतः आयरन की कमी के लिये डॉक्टर हरी भरी पत्तो वाली सब्जियों के सेवन की सलाह देते हैं।क्योंकि की हरे पत्तियों वाली सब्जियों में आयरन की मात्रा पाई जाती है।

तो आपको बताना चाहते है कि पार्सले में भरपूर मात्रा में आयरन होता है।इसीलिए आयरन की कमी को दूर करने के लिए पार्सले(अजमोद) का सेवन फायदेमंद है।

#3.हाई ब्लड प्रेशर में फायदा

पार्सले में पाए जाने वाले फोलिक एसिड और फाइबर ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करने का काम कर सकते हैं इसलिए अगर आप बिना दवाई के ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करना चाहते हैं तो आपको पार्सले का नियमित सेवन करना चाहिए।

#4.मुँह की दुर्गंध के लिए

पार्सले में फोलिक एसिड,विटामिन के,विटामिन सी जैसे तत्व मौजूद रहते हैं जो मुँह की दुर्गंध को दूर कर सकते हैं इसीलिए मुँह की दुर्गंध से परेशानी के लिए पार्सले का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है।

#5.इम्युनिटी सिस्टम को सुधारने में

पार्सले(अजमोद)  को हम एक पौष्टिक पावरहाउस कह सकते हैं ।इसमे एपीजेनिन जो कि एक एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा पाई जाती है नो सूजन के रोकथाम और फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान को कम करने का काम कर सकते हैं ।

पार्सले  के सेवन से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली(इम्यूनिटी सिस्टम) में काफी सुधार आ सकता है।

#6.केंसर के खतरों में असरकारक

पार्सले (parsley)  फ्लेवेनॉइड और एपीजेनिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध है। जो स्तन कैंसर को रोकने में मददगार हो सकता है और

कुछ केंसर कोशिकाओं के उदभव को रोक सकते हैं।

#7.किडनी के लिए

पार्सले किडनी की सफाई के लिये असरदार है इसमें मौजूद तत्व  किडनी में से व्यर्थ पदार्थ को बाहर निकल कर हैम को स्वस्थ रखने में काम आ सकता है।

#8.अन्य उपयोग

इसके अलावा पार्सले (अजमोद) आंखों की रोशनी के लिए ,सूजन कम करने के लिए,त्वचा के सुधार के लिए,पेट की समस्याओं में,यूरिन के रोगो में फायदेमंद साबित हो सकता है।

पार्सले से होने वाले नुकसान | Side Effects of Parsley in Hindi

पार्सले(अजमोद) के उपयोग में कुछ सावधानी भी रखनी चाहिए।

आइए जानते हैं अजमोद(parsley) के कुछ नुकसान

  • #1.गर्भवती महिलाओं को पार्सले के ज्यादा सेवन से दूर रहना चाहिए।
  • #2.पार्सले के अधिक सेवन से कुछ लोगों को एलर्जी भी ही सकती है।
  • #3.अगर आप को अन्य स्वास्थ्य संबंधी दवाई इस्तेमाल कर रहे हो तो आपको पार्सले (अजमोद)के सेवन के पहले डाक्टर की राय लेनी जरूरी है।
  • #4.अगर आप गॉलब्लेडर की या किडनी संबंधित बीमारियों से पीड़ित हैं तो आपको पार्सले(parsley) के अधिक सेवन से परहेज करना चाहिए।

यह भी पढ़े ओरेगेनो के कुछ ऐसे रोचक फायदे जो आपको नही पता होंगे

पार्सले का उपयोग | Uses of Parsley in Hindi

आइए हम आपको पार्सले(parsley) के उपयोग के बारे में बताते हैं।

  1. यूरोपीय देशों में पार्सले का उपयोग सामान्यतः व्यंजनों के गार्निश के लिये  ताजा काटकर किया जाता है। हमारे यहाँ भी हरा पार्सले गार्निशिंग के लिये प्रयुक्त किया जाता है।
  2. पार्सले(अजमोद) की जड़े का उपयोग सुप बनाने में किया जाता है।
  3. पार्सले को सुखाकर इसको मसाला के रुप में उपयोग में ले सकते हैं
  4. पार्सले की जड़े और पत्ते की  सब्जी भी बनती है।

What is parsley leaves in hindi – Parsley leaf meaning in hindi

पार्सले (अजमोद)के पत्ते चमकदार, गहरे हरे होते है और तना छोटा होता है।

पार्सले के दो प्रकार होते हैं।

  • #1.कर्ली पार्सले
  • #2.इतालवी फ्लैट पत्ते वाली पार्सले

  इसमें से इतालवी पत्ते ज्यादा सुगंधि वाले और कर्ली पार्सले से कम कडवा स्वाद वाले होते हैं।

Parsley leaves benefits in hindi

  • धनिया की तरह दिखने वाली पार्सले (अजमोद) एक विदेशी हर्बल जड़ीबूटी है।
  • यूरोपीय और अमेरिका में खाने के डिश की गार्निशिंग में सजने वाली पार्सले भारतीय व्यंजनों के गार्निश में भी उपयोग में आने लगी है।पार्सले(parsley) स्वास्थ्य के लिए बहोत ही लाभदायक हैं। इसमे काफी सारे विटामिन्स ,और मिनरल्स है।अजमोद यानी पार्सले में मैंगनीज, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए, सोडियम, फाइबर और विटामिन A, विटामिन B और विटामिन C और विटामिन बी12 होता है।इसके अलावा इसमें फॉस्फोरस,कार्बोहाइड्रेट, सोडियम, फाइबर,फोलेट,,फेटी एसिड, एमिनोएसीड, केरोटिन,प्रोटीन,थाइमिन और एन्टीऑक्सीडेंट,एंटीइंफ्लेमेटरी तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

Parsley seeds in hindi-parsley seeds called in hindi

पार्सले सीड्स यानी अजमोद के बीज ।बीज के लिये हम ऑनलाइन संपर्क कर सकते है लेकिन हमें बीज के लिए ट्रूस्टेड एजेंसीज का ही संपर्क करना चाहिए ताकि हमें ओर्गानिक पार्सले सीडस मिल सकें।

Parsley juice in hindi

  पार्सले(अजमोद) के ज्यूस के अदभुत फ़ायदे है । अजमोद का ज्यूस बनाने के लिये अजमोद के साथ गाजर,चुकंदर,खीरा और नींबू डाल सकते हैं । इसको सुबह सुबह हम पी कर भरपूर ऊर्जा प्राप्त कर सकते हैं।

पार्सले के ज्यूस  किडनी ,दिल के रोगों, सूजन,किडनी के रोगों, बालों के जड़ने,त्वचा के रोगों जैसी कई बीमारियों में फायदेमंद साबित हो सकता है।

Parsley powder in hindi | Parsley Powder Meaning in hindi

पार्सले(अजमोद) के पत्तों को सुखाकर इसे पिसकर  पावडर बना सकते है।

Parsle पावडर का उपयोग मसाला के रूप में   किया जाता है जिससे इसके पत्तियों के बिना पार्सले के फ्लेवर का लाभ उठाया जा सकता है।

Dried Parsley meaning in hindi

पार्सले को सुखाकर रखने को हम ड्राइड पार्सले कहते हैं। पार्सले की पत्तियों को सुखाकर इसको हम रख सकते हैं और बाद में जब चाहें तब उपयोग कर सकते हैं।

यह भी पढ़े पालक के बारे में कुछ ऐसे तथ्य जो आपको नही पता होंगे

FAQ (Parsley in Hindi) – पार्सले पार्सले(अजमोद) से जुड़े कुछ चर्चित सवाल

भारत में हरे धनिए का क्या विकल्प है ?

भारत में हरे धनिए का विकल्प पार्सले(अजमोद) है।

डेजर्ट पार्सले को हिंदी में क्या कहते है?

डेज़र्ट पार्सले को हिंदी में है इंडियन पार्सले (भारतीय अजमोद)

निष्कर्ष :

दोस्तो हमें उम्मीद है कि यह हिंदी में पार्सले से जुड़ा लेख ( Parsley in hindi ) आपको पसंद आया होगा । हम यह आशा रखते है की आपको पार्सले से जुड़े कुछ सवाल जैसे कि

पार्सले क्या है ? , पार्सले का हिंदी मीनिंग – Parsley meaning in hindi  , पार्सले के फायदे और नुकसान जैसे सवालो के संतोषजनक जवाब मिल चुके होंगे ।

आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो जरूर से अपने दोस्तों , रिस्तेदारो को शेयर करते रहिए जिससे उन्हें भी ऐसे उपयोगी लेख प्राप्त हो सके।

हमारी साइट में आने के लिए धन्यवाद ।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories

Recent Post

Trending